President’s Desk

अध्यक्ष की कलम से . . . . .

प्रिय भाइयों एवं बहनों,

जब आप समाज हित में किसी संगठन से जुडते हो और संगठन की प्रगति से अत्यधिक खुशी का अनुभव करते हो तब कभी कभी आपका भी ह्रदय प्रफुल्लित होता है तब आपके ह्दय में भी समाज के लिए काम करने की कामना बलवती होने लगती है और आप मानसिक, शारीरिक, भावनात्मक विचारों को एक करते हुए संगठन में काम करने के लिये उत्साहित हो जाते है और कायस्थ एकता के स्वर ह्दय में गुजांयमान होने लगते है तब दिल से हम सब एक है, के स्वर गुजांयमान होने लगते है और इसी विचार को लेकर संगठन के साथ काम करने को अग्रसर हो जाते  है। इसी सोच, इसी उर्जा, इसी स्वप्न, इसी उॅंची उडान को लेकर कायस्थ कल्याण समिति का गठन हुआ उन पथों पर चलने का निर्णय लेकर आगे बढें जहाॅं आज तक कोई न पहुंचा हो।  उन्हीं स्वप्नों को पूर्ण करने के लिए जो अभी तक पूर्ण नहीं हुए है। जोधपुर शहर शान्ति, सौहार्दता, सौन्दर्य, भ्रातृत्व एवं सूर्य की किरणें सबसे पहले अवतरित होने वाला शहर है।

में अध्यक्ष होने के नाते नहीं अपितु एक सामान्य कायस्थ होने के नाते अपेक्षा करता हूँ की कायस्थ कहा जाने वाला समाज अपने पर ओढ़ी गयी चकाचोंध की अहंकार जन्य चादर के आवरण से बहार आकर पूर्वजों द्वारा सोंपी गयी सत्य आधारित जीवन शैली को आधार बनाकर भारतीय समाज को नैतिकता, न्याय और नेतृत्व प्रदान करेंगे।

अन्त में हम आभार व्यक्त करते है कायस्थ कल्याण समिति के सभी सदस्यों का जिनके प्रयासों से कायस्थ कल्याण समिति आज इतने अल्प समय में अपनी पहचान बना सकी और अपने अस्तित्व को सूर्य के प्रकाश की तरह से प्रकाशवान हो रही है।

हम विश्वास करते है कि आप सभी की उर्जा के प्रवाह से हम भी अपनी उर्जा को अपेक्षित स्तर तक ले जा पाते है व स्वयं को सामान्यजन की तरह रखकर कार्य की गति को आगे बढा पाते है।

Recent E-News
Recent Matrimonials